Uncategorized

गोला-बारूद की नहीं है कमी, सेना किसी भी परिस्थिति से निपटने को तैयार: रक्षामंत्री

तीनों सेनाओं के जवान हर परिस्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से सक्षम हैं

गोला-बारूद की नहीं है कमी, सेना किसी भी परिस्थिति से निपटने को तैयार: रक्षामंत्री September 11, 2017Leave a comment

जयपुर (जेएनएन)। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) की उस रिपोर्ट को गलत बताया है, जिसमें सेना के पास गोला-बारूद कम होने की बात कही गई थी। रक्षा मंत्री का कहना है कि हमारी सेना युद्ध के लिए पूरी तरह से तैयार है। तीनों सेनाओं के जवान हर परिस्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से सक्षम हैं। उन्होंने कहा कि तथ्यात्मक रूप से यह गलत है और इस पर बहस करना भी गैरजरूरी है। उल्लेखनीय है कि कैग ने हाल में ही रिपोर्ट दी थी कि सेना के पास युद्ध की स्थिति में सिर्फ 20 दिन का गोला-बारूद उपलब्ध है, जबकि इसका 40 दिनों का भंडार होना चाहिए।

रक्षा मंत्री का पदभार संभालने के बाद रविवार को निर्मला ने भारत-पाक सीमा पर स्थित उत्तरलाई वायुसेना स्टेशन का दौरा किया। वे वायुसेना अध्यक्ष एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ के साथ शाम करीब छह बजे राजस्थान के बाड़मेर जिला स्थित उत्तरलाई एयर स्टेशन पर पहुंचीं। यहां मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को खत्म कर शांति बहाली के प्रयास किए जा रहे हैं।

सीतारमण ने कहा कि सोमवार से वे प्रतिदिन सुबह दस बजे दिल्ली में तीनों सेनाओं के प्रमुखों से मिलकर सेना की तैयारियों और भावी रणनीति पर विचार-विमर्श करेंगी। यदि किसी दिन कोई सेनाध्यक्ष दिल्ली में मौजूद नहीं रहेंगे तो उनके सहयोगी के साथ चर्चा होगी। यह बैठक 15 मिनट की रहेगी ।

यहां वायुसैनिकों को संबोधित करते हुए निर्मला ने कहा कि सरकार हर मोर्चे पर सैनिकों के साथ है। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी देते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीमा का दौरा करने के निर्देश दिए थे। उल्लेखनीय है कि वर्ष 1965 एवं 1971 के भारत-पाक युद्ध में उत्तरलाई स्टेशन की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *