Top 10

बाबा को 10 साल की सज़ा तो मिलगई लेकिन इन 10 रास्तों से बाबा आसानी से बच सकते हैं ?

आखिर वो समय भी आ ही गया और सीबीआई की अदालत ने 28 अगस्त सोमवार को राम रहीम को 10 साल की कठोरतम कारावास की सजा सुनाई.

बाबा को 10 साल की सज़ा तो मिलगई लेकिन इन 10 रास्तों से बाबा आसानी से बच सकते हैं ? August 28, 2017Leave a comment

25 अगस्त को राम रहीम को दोषी करार दिया गया तो उसके समर्थकों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया जिसमें 38 लोगों की जान चली गयी. उसके बाद बाबा और उनके समर्थक 28 अगस्त का इंतजार कर रहे थे कि उन्हें सजा कितने साल की मिलती है.

आखिर वो समय भी आ ही गया और सीबीआई की अदालत ने 28 अगस्त सोमवार को राम रहीम को 10 साल की कठोरतम कारावास की सजा सुनाई. 10 साल की सजा सुनते ही राम रहीम ने कोर्ट छोड़ने से इंकार कर दिया था,

 

जिसके बाद उसे जबरदस्ती कोर्ट रूम से बाहर निकाला गया. बाबा की मेडिकल जांच के बाद उसे फिर जेल भेज दिया जाएगा.

 

वहीँ आस लगायी जा रही है कि सीबीआई कोर्ट ने जहाँ धारा 376 के तहत राम रहीम को 10 साल की सजा सुना दी है तो शायद ही अब इस खबर को देखते हुए बाबा राम रहीम के वकील इस मामले को लेकर शांत बैठने वाले हैं.

 

कहा जा रहा है की शायद बाबा वकील सीबीआई कोर्ट से भी बड़ी अदालतों का दरवाज़ा खटखटा सकते हैं या फिर कोई और विकल्प अपना सकते हैं.

 

अगर सूत्रों की मानें तो शायद बाबा अपने स्वास्थ और दूसरे कारणों के आधार पर अंतरिम जमानत की मांग कर सकते हैं, या फिर अगर उन्हें हाई कोर्ट से भी राहत नहीं मिली तो वे सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे. हालाँकि 28 अगस्त को राम रहीम अपील दायर नहीं पाए हैं क्योंकि सीबीआई  अदालत से फैसला आते आते काफी देर हो चुकी थी इसलिए अब बाबा राम रहीम को अपील दायर करने के लिए 29 अगस्त को चुनना पड़ेगा. 

 

अगर 29 अगस्त को राम रहीम की तरफ से सीबीआई अदालत के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील दायर की जाती है तो हाईकोर्ट उसे स्वीकार कर लेगा और यह भी हो सकता है की कोर्ट उसी दिन सुनवाई भी कर ले. वैसे तो आमतौर पर हाई कोर्ट दो दिन बाद ही सुनवाई करता है या यूँ कहें की सब कुछ हाई कोर्ट के रुख पर निर्भर करता है.

 

हो सकता है कि बाबा के मामले में हाई कोर्ट स्टे भी दे दे. खैर इसे तो सस्पेंशन ऑफ कोर्ट कहा जाता है. वहीँ बाबा राम रहीम हाई कोर्ट से राहत की उम्मीद कम ही दिखाई दे रही है. क्योंकि सभी को इस बात का डर है की बाबा अगर बाहर आ गए तो दुबारा उन्हें पकड़ना बहुत मुश्किल हो जायेगा, क्योंकि अभी तो केवल बलात्कार का केस ही खुलकर सामने आया है बल्कि बाबा पर तो दो हत्याओं के भी केस दर्ज हैं इसलिए हाई कोर्ट से राहत मिलना मुश्किल ही दिखाई देता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *