Facts Intresting News Social Media

बेंगलुरु में गुजरात के कांग्रेसी विधायक जिस रिसॉर्ट में ठहरे हैं जब वहां छापा पड़ा तो सामने आया ऐसा सच..

बेंगलुरु में गुजरात के कांग्रेसी विधायक जिस रिसॉर्ट में ठहरे हैं जब वहां छापा पड़ा तो सामने आया ऐसा सच.. August 2, 2017

अपने पार्टी के टूटने की डर से कांग्रेस ने गुजरात के 42  विधायको को बंगलुरु के एक रिसॉर्ट में रखा है . यह रिसॉर्ट कांग्रेस के ताकतवर मंत्री और सोनिया गाँधी के करीबी माने जाने वाले नेता  डीके शिवकुमार का है. पिछले दिनों अमित शाह राज्यसभा उम्मीद्वार के रूप में गुजरात में नामांकन करने के लिए पहुंचे थे. इसी दौरान कांग्रेस के लगभग 4 विधायक बीजेपी में शामिल हो गये. 10 और विधायको के शामिल होने की आशंका थी. कांग्रेस की तरफ से अहमद पटेल राज्यसभा के उम्मीद्वार है ऐसे में अगर पार्टी के विधायक टूटते है तो कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ सकता है. इसी के डर से कांग्रेस ने अपने सभी विधायको को कर्नाटक भेज दिया है.

Source

जिस रिसॉर्ट में कांग्रेस के इन विधायको को रखा गया है वो रिसॉर्ट कर्नाटक कांग्रेस के ताकतवर मंत्री डीके शिवकुमार का है. आपकी जानकरी के लिए बता दे सभी विधायकों की देखरेख  डीके शिवकुमार के द्वारा ही किया जा रहा है. आईटी की टीम द्वारा डीके शिवकुमार के इस  रिसॉर्ट(जहां गुजराती कांग्रेस के विधायक रह रहे है) समेत लगभग 39 ठिकानों पर छापे मारे गये. हालाँकि रिसॉर्ट पर रेड की खबरों का खंडन किया गया है. पीटीआई ने ट्वीट करके जानकारी की दी कि आईटी की टीम रिसॉर्ट में मौजूद है लेकिन वहां सर्च आपरेशन नही चल रहा है.

ANI का ट्वीट 

छापे के बाद जो जानकारी सामने आई है उससे आपको बता दें कि जिस रिसॉर्ट में विधायको कि रखा गया है वहा का एक कमरे का एक दिन का किराया 10,000 से शुरू होता है. यह रिसॉर्ट शहर से लगभग 60 किमी दूर बिदादी इंडस्ट्रियल इलाके में है. इस इलाके में कई मल्टीनेशनल कम्पनियों के दफ्तर भी हैं. विधायको की मेजबानी डीके शिवकुमार के भाई डीके सुरेश कर रहे है .

Source

सूत्रों के मुताबिक आईटी के अफसरों को शक था कि इन विधायको के रख रखाव से लेकर इनके सेक्युरिटी तक में बड़े पैमाने में कैश का फ्लो था.आईटी अफसर इस बात की भी जांच कर रहे है कि इन नेताओं ने किसी बड़ी रकम का लेन देन किया है या नही. इन्ही शक के चलते आईटी ने विभिन्न लोकेशंस पर छापा मारा है.आईटी विभाग को दिल्ली निवास पर 5 करोड़ रूपये मिले है.छापे मारी के दौरान सीआरपीएफ के जवान भी वहां मोजूद थे.आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डीके शिवकुमार ने हलफनामें में अपनी सम्पत्ति 250 करोड़ से ज्यादा की घोषित की थी.

कांग्रेस के नेताओं ने इस मामले को लेकर संसद में हंगामा किया और आरोप लगाया कि बीजेपी बदले की राजनीति कर रही है. हालाँकि कुछ कांग्रेसी नेता दबी जुबान में कह रहे है कि आईटी का यह छापा वहां मौजूद कांग्रेस विधायको को बाहर निकालने के लिए मारा गया था.ताकि राज्यसभा चुनाव के लिए जोड़तोड़ के लिए बंद हो चुकी बात चीत फिर शुरू की जा सके.कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि बीजेपी महज एक राज्यसभा सीट जीतने के लिए इतनी मशक्कत कर रही है। हालांकि, बीजेपी ने कहा है कि अगर ईगलटन रिजॉर्ट प्रबंधन ने वित्तीय तौर पर कुछ गलत किया है तो कार्रवाई में कुछ भी गलत नहीं है।