Facts Intresting News Social Media

बड़ा खुलासा : संसद हमले के दोषी अफज़ल गुरु ने जेल से इस नेता को लिखी थी चिट्ठी और कहा था कि मुझे…

बड़ा खुलासा : संसद हमले के दोषी अफज़ल गुरु ने जेल से इस नेता को लिखी थी चिट्ठी और कहा था कि मुझे… August 2, 2017

कश्मीर में पत्थारबाजों साथ देते हैं अलगाववादी नेता 

जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रहे आतंकी हमलों में आतंकियों का साथ देने वाले पत्थरबाज अपनी हरकतों से बाझ नहीं आ रहे हैं. पत्थरबाजों का इतना बड़ा नेटवर्क है कि जैसे ही सेना आतंकियों की घेरा बंदी करती है. वैसे ही वहां काफी संख्या में पत्थरबाज पहुंचकर सेना पर पत्थरबाज भारी पथराव करने लगते हैं. जिसके कारण आतंकी भागने में सफल हो जाते हैं. आये दिन खबर आती रहती है कि कश्मीर में जब भी सेना आतंकियों को अंजाम देने के लिए अभियान चलाती है वहीं  देश के यह गद्दार आतंकियों का साथ देते नजर आते हैं. वहां के अलगावादी नेता इस हरकत में इन लोगों का साथ देते हैं.   kashmir

Source

जांच एजेंसी NIA ने किया है खुलासा 

आपको बता दें कि टेरर फंडिंग को लेकर अलगावादियों पर नेशनल इनवेस्टिगेटिव एजेंसी NIA लगातार इन अलगावादियों पर जाँच कर रही है. आतंक को पनाह देने वालों के लिए NIA ने यह अभियान चलाया है. आतंक को पनाह देने वालों की पोल खुलती दिख रही है. हालही में NIA के हाथ 2001 के संसद हमले के आरोपी आतंकी अफजल गुरु” की एक चिट्ठी लगी है.

Source

गिलानी को लिखी चिट्ठी मिली 

चिट्ठी मिलने के बाद NIA ने खुलासा किया है कि अफजल गुरु ने यह चिट्ठी किसी और नहीं बल्कि कश्मीर हुर्रियत के नेता सयैद अली शाह गिलानी को लिखी थी. अफजल गुरु ने इस ख़त में गिलानी से कहा है कि मुझे दिल्ली की तिहाड़ जेल से श्रीनगर की जेल में ट्रान्सफर करा देने के लिए मदद मांगी थी.

Source

टेरर फंडिंग के मामले में जाँच कर रही NIA को यह चिट्ठी किसी और के यहां नहीं बल्कि उनके दामाद अल्ताफ अहमद शाह उर्फ़ फंटूश के यहाँ एक छापेमार कार्यवाई के दौरान मिली. आपकी जानकारी को बता दें कि इस चिट्ठी की कॉपी जी मीडिया के पास भी मौजूद है.

Source

चिट्ठी में लिखा है मैं आपसे..

मिली इस चिट्ठी में अफजल गुरु ने लिखा है,“मैं आपसे गुजारिश करता हूं कि आप राज्य के सीएम उमर अब्दुल्ला से कहें कि वे सुप्रीम कोर्ट के उस नोटिस का जवाब दे जो कि मेरे जेल ट्रांसफर के संदभ में है ना कि राज्य विधानसभा में इसे लेकर कोई विधेयक पास करने की बात करने के जिसकी मुझे कोई जरूरत नहीं है”

Source

NIA ने आतंकियों को मदद पहुँचाने वाले अलगाववादी नेताओं पर किया है मामला दर्ज

आपको बता दें कि जाँच एजेंसी NIA ने टेरर फंडिंग के मामले में 30 मई को अलगाववादी नेता और हुर्रियत सदस्यों समेत कई लोगों पर मामला दर्ज कर लिया था. इन नेताओं पर आतंकियों को आर्थिक मदद पहुँचाने का आरोप है. जिसमें यह नेता लश्कर-ए तैयबा, मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठनों को मदद पहुँचाने का काम करते थे. सूत्रों के अनुसार कश्मीर के अलगाववादी नेता हवाला के जरिए आने वाले पैसे से घाटी में आतंक को बढ़ावा देने के साथ अशांति फ़ैलाने का काम करते हैं. 9 फरवरी 2013 को दिल्ली की तिहाड़ जेल में अफजल गुरु को फांसी दी गयी थी