India

भारत आने से पहले जापान PM ने कही ये बड़ी बात, जिसे देखकर आप खुद कहेंगे की इसे कहते हैं दोस्ती

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 13-14 सितंबर को गुजरात दौरे पर आ सकते हैं।

भारत आने से पहले जापान PM ने कही ये बड़ी बात, जिसे देखकर आप खुद कहेंगे की इसे कहते हैं दोस्ती September 1, 2017Leave a comment

नई दिल्ली: भारत आने से पहले Japan-PM शिंजो आबे ने कहा है कि पीएम मोदी एक महान नेता हैं और वो उनसे मिलने के लिए बेकरार हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 13-14 सितंबर को गुजरात दौरे पर आ सकते हैं। दोनों देशों के पीएम यहां 1 लाख करोड़ अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन के प्रोजेक्ट की नींव रख सकते हैं।

सूत्रों की मानें, तो Japan-PM शिंजो आबे पीएम मोदी के साथ साबरमती गांधी आश्रम भी जा सकते हैं। इसके अलावा दोनों नेता कई बड़े प्रोजेक्ट की शुरुआत करेंगे। जिसमें जापान इंडस्ट्रियल पार्क I और II की शुरुआत करेंगे। कहा जा रहा है कि 15 से 20 जापानी कंपनियां गुजरात में निवेश करने की इच्छुक हैं।

2015 में हुआ था करार:

आपको बता दें कि दोनों देशों के बीच बुलेट ट्रेन को लेकर 2015 में मेमोरेंडम साइन किया गया था। इसके तहत जापान में टोक्यो से कोब से बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन की तर्ज पर मुंबई से अहमदाबाद के बीच ट्रेन चलाने का प्रस्ताव मंजूर किया गया था। नवंबर, 2016 में पीएम मोदी ने अपने जापान दौरे के दौरान इस बुलेट ट्रेन में सफर किया था। उसी ट्रेन की टेक्नोलॉजी को भारत में इस्तेमाल किया जाएगा।

हाल ही में हुए हैं कई रेल हादसे:

गौरतलब है कि हाल ही में देश में कई बड़े रेल हादसे हुए हैं। बीते मंगलवार सुबह महाराष्ट्र के टिटवाला में नागपुर-मुंबई दुरंतो एक्सप्रेस का इंजन और नौ डिब्बे पटरी से उतर गए थे। इस ट्रेन में कुल 18 डिब्बे थे। यह दुर्घटना उस समय हुई जब अधिकतर यात्री सो रहे थे।

23 अगस्त 2017:

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में बुधवार देर रात कैफियत एक्सप्रेस के 10 डिब्बे पटरी से उतर गए। आजमगढ़ से दिल्ली आ रही इस ट्रेन के हादसे के शिकार होने के कारण कम से कम 74 लोग घायल हो गए। यूपी में पांच दिनों के अंदर यह दूसरी बड़ी ट्रेन दुर्घटना हुई थी।

19 अगस्त 2017:

उत्कल एक्सप्रेस मुजफ्फरनगर के खतौली के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी, जिसमें 24 लोगों की मौत हो गई जबकि तकरीबन 150 लोग जख्मी हो गए। इस हादसे में रेल अधिकारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई थी। रेलमंत्री ने इस मामले में रेलवे के कई वरिष्ठ अधिकारियों पर कार्रवाई की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *