Facts News Social Media

भारत में हो रहे चीन के विरोध के बीच अमेरिकी विशेषज्ञ ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा, हासिल कुछ नहीं होगा लेकिन…

चीन और भारत के बीच तनातनी का दौर बना हुआ है. चीन भारत की सीमाओं का अतिक्रमण करना चाहता है

भारत में हो रहे चीन के विरोध के बीच अमेरिकी विशेषज्ञ ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा, हासिल कुछ नहीं होगा लेकिन… July 30, 2017

भारत चीन की एक नहीं चलने दे रहा. चीन का मीडिया भारत के खिलाफ ख़बरें छापने में लगा हुआ है कभी वहां के अख़बारों में भारत को धमकी दी जाती है तो कभी सलाह कि, भारत अपनी जिद्द छोड़ दे. भारत के मीडिया में भी चीन की इन गीदड़भभकियों को लेकर कई सामाचार छापे गए जिनमें साफ़ लिखा गया कि चीन भारत का कुछ नहीं बिगाड़ सकता. चीन को पता है कि अगर उसने भारत के खिलाफ कोई भी गलत कदम उठाया तो इससे चीन को ही सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ेगा.

source

गलत तरीके अपना रहा है चीन 

चीन की ख्वाईश है कि वो दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश बने लेकिन जिन तरीकों से वो ये काम करना चाहता है वो किसी को पसंद नहीं है. हालांकि शी जिनपिंग चीन की छवि को बदलना चाहते हैं लेकिन चीन की झगड़ालू मुल्क की छवि को बदलना इतना आसान नहीं है, क्योंकि आए दिन चीन किसी न किसी पड़ोसी मुल्क से उलझता ही रहता है. चीन ने वन बेल्ट वन रोड की जो परियोजना चलाई है उसे भी उसके अड़ियल और झगड़ालू रुख से नुकसान होने की पूरी सम्भावना है.

source

चीन के रवैये को देखकर चिंता में है अमेरिका 

चीन और भारत के बीच चल रहे गतिरोध पर पूरी दुनिया की नज़रें बनी हुई हैं. चीन के रवैये को लेकर अमेरिका भी परेशान है. अमेरिका के एक विशेषज्ञ ने भारत-चीन सीमा विवाद पर बोलते हुए कहा कि, चीन को भारत के साथ सीमा गतिरोध पर कुछ भी हासिल होने वाला नहीं है क्योंकि, चीन सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में जो सड़क बनाना चाहता है वो कहीं नहीं जाती और अगर उसने ये कदम उठाया तो वो भारत को अमेरिका और जापान के और करीब ला देगा.

source

अमेरिकी विशेषज्ञ ने दिया बयान

अमेरिका की विदेश नीति परिषद में फेलो और एशियाई सुरक्षा के निदेशक जेफ़ स्मिथ ने कहा है कि, जो गतिरोध चीन और भारत के बीच चल रहा है उससे भारतीयों में अविश्वास पैदा होगा जिनको चीन के साथ टकराव का ज्यादा अनुभव नहीं है. उन्होंने कहा कि, ‘ ये गतिरोध भारत को अमेरिका और जापान के और करीब धकेल देगा और भारत में चीन विरोधी लहर फैल जाएगी.’ उन्होंने ये भी कहा कि चीन जो सड़क बनाने की कोशिश कर रहा है वो कहीं भी नहीं जाती. उनका साफ़ कहना था कि भारत से उलझ के चीन को कोई फायदा होने वाला नहीं है.

source

जहाँ एक ओर भारत की सिक्किम से लगी सीमा पर चीन मनमानी करने की कोशिश कर रहा है वहीं दूसरी ओर हिंद महासागर में भी चीन अपनी नौसेना की मौजूदगी बढ़ाने में लगा हुआ है, लेकिन अब वक्त बदल चुका है चीन की किसी भी हरकत का भारत मुंहतोड़ जवाब दे सकता है.

source

भारत की असली चिंता सिक्किम के आम लोगों को लेकर होनी चाहिए क्योंकि वो लोग दोनों देशों के बीच हो रहे तनाव के कारण परेशान हैं. हालांकि ये मुद्दा इतना सामान्य नहीं है कि चुटकियों में इसे सुलझा दिया जाए लेकिन फिर भी भारत को ऐसा कुछ तो करना ही पड़ेगा जिससे सिक्किम में शान्ति स्थापित हो सके.

source

अमेरिका से आए बयान से ये बात तो साफ़ हो जाती है कि अमेरिका, भारत के पक्ष में है और वो भारत का साथ आगे भी देगा. चीन को अगर मनमानी करने दी गई तो कल वो पूरी दुनिया के लिए ख़तरा बन सकता है ऐसे हालात में भारत ही अमेरिका का साथ दे सकता है.