Facts News Social Media

राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हत्थे चढ़ा वो गद्दार जिसने पाकिस्तान को दे दीं थी भारत की ये ख़ुफ़िया जानकारियां

राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हत्थे चढ़ा वो गद्दार जिसने पाकिस्तान को दे दीं थी भारत की ये ख़ुफ़िया जानकारियां August 2, 2017

भारत में कई लोग ऐसे हैं जो भारत में रहकर ही भारत के खिलाफ बोलते हैं. कई ऐसे भी हैं जो भारत में रहकर ही भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों को सम्मान नहीं देना चाहते. कहा भी जाता है कि भारत को पाकिस्तान और चीन से उतना ख़तरा नहीं है जितना इन गद्दारों से. कई ऐसे गद्दार भी हैं जो भारत में रहकर ही भारत की जानकारियाँ पाकिस्तान और चीन जैसे दुश्मन देशों को दे देते हैं. ऐसे ही मामले में NIA ने एक शख्स को हिरासत में लिया है.

source

राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हत्थे चढ़ा गद्दार 

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने कट्टरवादी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के करीबी माने जाने वाले देविंदर सिंह बहल को लेकर बड़ा खुलासा किया है. कहा जा रहा है कि सैयद अली शाह गिलानी का करीबी देविंदर कथित रूप से पाकिस्तान के उच्चायोग के संपर्क में था. उसके द्वारा कई जानकारियाँ पाकिस्तान को मिल रही थीं.

source

भारत की ख़ुफ़िया जानकारियाँ बहल ने पहुंचाई पाकिस्तान 

भारतीय जांच एजेंसी ने देविंदर बहल को लेकर बड़े खुलासे किये हैं. NIA में बताया कि बहल ने कई गुप्त सूचनाएं पाकिस्तान को पहुंचाई जो कि पाकिस्तान को पता नहीं होनी चाहिए थी. बहल ने भारतीय सेना की गुप्त सूचनाएं और गतिविधियों की जानकारी पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के साथ साझा कर दीं. बहल ने भारतीय सेना की मूवमेंट के बारे में भी पाकिस्तान को जानकारी दी थी.

source

देविंदर सिंह बहल को राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने रविवार को टेरर फंडिंग के मामले में उसके घर पर छापा मारकर उसे हिरासत में ले लिया था. NIA के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बयान दिया कि, ‘हमें संदेह है कि पाक उच्चायोग के लोगों के साथ संपर्क में रहने वाले बहल ने ISI को ख़ुफ़िया सूचनाएं देकर भारत की सुरक्षा को खतरे में डाला है. यह एक बहुत बड़ा अपराध है और उसके खिलाफ़ IPC की धारा 121 (राज्य के खिलाफ युद्ध) के तहत मुकदमे का आधार तैयार करता है.’

source

बहल लगाता था आज़ादी के नारे 

NIA ने प्राथमिक जांच से पता लगाया है कि जम्मू-कश्मीर सोशल पीस फोरम का मुखिया बहल सार्वजनिक तौर पर सबके समक्ष आज़ादी के समर्थन में नारे लागाता था. NIA ने ये भी दावा किया है कि हुर्रियत लीगल सेल का सदस्य बहल भोले-भाले कश्मीरियों को भड़काता था वो आतंकियों को शहीद बताकर उनकी शहादत को व्यर्थ न जाने देने की बात करता था और कश्मीरियों को उकसाता था.

source

बहल ने कश्मीरियों को भड़काने के लिए जो बयान दिए हैं उनके कुछ वीडियो यू-ट्यूब पर भी मौजूद हैं. इन वीडियो में बहल ‘आज़ादी के नारे लगाता दिख रहा है और मारे गए आतंकवादियों के जनाजे में शामिल होकर उन्हें शहीद बताते हुए नारे लगा रहा है. उसके भाषणों के दौरान पाकिस्तान के झंडे भी दिख रहे होते हैं. NIA बहल से पूछताछ की तैयारी में है और जल्द ही उसकी गिरफ्तारी हो सकती है. NIA ने ये भी खुलासा किया कि बहल लगभग 6 बार पाकिस्तान का दौरा भी कर चुका है.

source

NIA ने जब बहल के घर पे छापा मारा तो उन्हें उसके बैंक अकाउंट में 35 लाख रुपए भी मिले. NIA के अधिकारी का कहना है कि एक वकील जिसकी वकालत ठीक ढंग से चलती नहीं है उसके खाते में इतनी बड़ी रकम होना थोड़ा अटपटा लगता है. NIA बहल से पूछताछ भी करेगी कि आखिर इस पैसे का सोर्स क्या है. बहल जैसे गद्दारों की वजह से है भारत के कई सैनिक शहीद हो जाते हैं क्योंकि पाकिस्तान को भारत की ख़ुफ़िया जानकारियाँ पहले ही पहुँच जाती हैं.