Amazing Facts Intresting News Social Media Top 10

हो गया है खुलासा : बीजेपी में शिवपाल यादव के शामिल होने को लेकर खुद अमित शाह ने कहा…

हो गया है खुलासा : बीजेपी में शिवपाल यादव के शामिल होने को लेकर खुद अमित शाह ने कहा… August 2, 2017

देश में इस समय बीजेपी सरकार अपना परचम लहरा रही है, अधिकाँश भारतीय इलाकों में इस समय बीजेपी सरकार है और हाल ही में बिहार में भी बीजेपी ने कदम रख दिया है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तीन दिवसीय दौरे पर शनिवार को लखनऊ पहुंचे जहाँ उनका भव्य स्वागत किया गया. उनका स्वागत करने के लिए बीजेपी के कई कार्यकर्ता हवाईअड्डे पर मौजूद थे. शाह 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारियों को देखने के लिए लखनऊ गए थे. लखनऊ पहुंचे ही अमित शाह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाक़ात की और इसके साथ ही अमित शाह ने यहाँ लोकसभा चुनाव में जीत कैसे हासिल की जाए इसके लिए अपने कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र भी दिया.

SOURCE

जहाँ एक ओर यूपी में समाजवादी पार्टी के दो विधान परिषद सदस्यों के इस्तीफे को लेकर खलबली मची हुई है वहीँ इसी बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को पार्टी के एक कार्यकर्ता के घर दोपहर का भोजन किया जो कि जाति से ‘यादव’ था. जी हाँ तीन दिवसीय दौरे पर लखनऊ आये अमित शाह ने दूसरे दिन गोमतीनगर के बड़ी जुगौली इलाके में सोनू यादव नाम के एक भाजपा कार्यकर्ता के घर जाकर भोजन किया था.

इस दौरान अमित शाह के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद थे और उन्होंने भी सोनू के घर भोजन किया था.

SOURCE 

अमित शाह द्वारा उठाए गए इस कदम से तो यही आस लगायी जा रही है कि जहाँ यादव बिरादरी को सपा का मुख्य वोट बैंक माना जाता है ऐसे में अमित शाह द्वारा एक व्यक्तिगत जाति के कार्यकर्ता के घर जाकर भोजन करने को तो यही कहा जा सकता है कि कहीं न कहीं ये सब यादव वोट बैंक को भाजपा की तरफ लुभाने की कोशिश है.

source

आपको बता दें कि अभी हाल ही में हुए राष्ट्रपति चुनाव को भी लेकर खबर आई थी कि सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव और उनके भाई सपा विधायक शिवपाल यादव ने भी बीजेपी का साथ देते हुए रामनाथ कोविंद का खुला समर्थन किया था.

source

जब अमित शाह से पूछा गया कि क्या शिवपाल भी बीजेपी से जुड़ सकते हैं तो…

भाजपा के राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को उत्तर-प्रदेश की जनता को भरोसा दिलाते हुए कहा था कि उप्र में कानून का राज्य स्थापित होगा. साथ ही अमित शाह ने लखनऊ स्थित भाजपा मुख्यालय में केंद्र सरकार की उपलब्धियों का भी खूब बखान किया था. उन्होंने आगे कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान विपक्ष की सरकार केंद्र सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा पाई है.

SOURCE

अमित शाह के इस दौरे के पीछे की वजह उप्र सरकार के कामकाज को परखना बताया जा रहा है. बता दें कि राजधानी पहुंचे अमित शाह ने योगी सरकार की भी जमकर सराहना की थी. अमित शाह ने योगी सरकार की तारीफ़ करते हुए कहा कि, “योगी सरकार ने तीन महीने के अंदर ही काफी अच्छा काम करके दिखाया है.

SOURCE

योगी सरकार को परखने राजधानी पहुंचे थे अमित शाह

चुनाव के दौरान किसानों के कर्ज माफ करने का जो वादा भाजपा ने किया था, उसे सरकार ने पूरा भी किया है. उन्होंने ये भी बताया कि गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान केंद्र सरकार के राज में उतना हुआ है, जितना आजादी के बाद कभी नहीं हुआ.

source

ऐसे में जब अमित शाह से पूछा गया कि पनामा लीक्स के खुलासे में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर आरोप लगे थे और उसके बाद वहां की सर्वोच्च अदालत ने उन्हें इस मामले में दोषी करार दिया है, जिसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा, क्या हमारे देश में भी पनामा लीक्स से जुड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई की उम्मीद की जा सकती है?

source

जिसके जवाब में अमित शाह ने बताया कि, ” पनामा लीक्स मामले में सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश के बाद सरकार ने एसआईटी का गठन किया है और एसआईटी अपनी जांच कर रही है. अमित शाह ने आगे बताया कि जहां तक बात भाजपा की है तो पार्टी के एक भी सदस्य का नाम पनामा लीक्स में नहीं आया था.”

source

अमित शाह से जब यह पूछा गया कि क्या सपा के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव भी भाजपा के संपर्क में हैं और क्या अब वो भी भाजपा से जुड़ सकते हैं तो उन्होंने कहा कि शिवपाल की तरफ से न तो कोई ऐसा प्रस्ताव आया है और न ही भाजपा फिलहाल इस बारे में विचार कर रही है.